दवा छोडें जिन्दगी बचाएँ-Call Us: 7412-098098,9324724863

जॉइंट पैन के लक्षण और उपाय के बारे में जानिये

Joint Pain – जॉइंट पैन हमारा शरीर कई जोड़ो से मिलकर बना है जैसे की घुटने, कंधे, गर्दन, कोहनी और कूल्हे। जब भी इन जगहों पर दर्द होता है उसे डॉक्टरी लैंग्वेज में जॉइंट पैन कहा जाता है। जॉइंट पैन के लक्षण क्या है…

जोड़ो में दर्द और गठिया दोनों ही स्थिति में लक्षण सामान्य होते है। जैसे की अकड़न होना, जोड़ो में दर्द होना, लाली पड़ना, जोड़ो की गतिशीलता करने की क्षमता में कमी जोड़ो का दर्द  तनाव, मोच, गठिया, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस, बर्साइटिस, संधिशोथ, जोड़ों में कैंसर के कारण भी होता है।

कारण –

ऑस्टियोआर्थराइटिस – जब हमारे शरीर की हड्डिया सिरों की जगह को घेर लेती है या फिर दूर होती है यह हाथों , घुटनों , कलाई  और कूल्हों में होता है।

रूमेटाइड अर्थराइट्स- ऑटो इम्युन डिसऑर्डर की वजह से सूजन और दर्द होता है।

गाउट – जब यूरिक एसिड का लेबल बढ़ जाता है तब जोड़ो में दर्द होता है।

टेंडिनिटिस – घुटनों, कलाई ,कंधे , कोहनी और एड़ी में सूजन आती है इसे टेंडेंस कहते है।

बर्साइटिस-  बर्से में सूजन आने के कारण होता है।

चोट – जब शरीर की हड्डी टूट जाये या कहि मोच आ जाये इसे ही चोट के दर्द कहते है।

इलाज –

ऐसे में जोड़ो के दर्द के इलाज के लिए डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। डॉक्टर अधिकतर मलहम , एंटी इंफ्लेमेटरी दवाएं ,एसिटामिनोफेन, इंजेक्शन (स्टेरॉयड या हायल्यूरोनन), एंटी-डिप्रेसेंट लेने की सलाह देते है।

Shopping Cart